सोचिए अगर फेसबुक और व्हाट्सअप बंद हुआ तो क्या होगा?

सोचिए अगर फेसबुक और व्हाट्सअप बंद हुआ तो क्या होगा?

सबसे पहले कोई भी चीज जरूरत बनती है. धीरे-धीरे वही चीज आदत में तब्दील हो जाती है. उदाहरण के तौर पर, अगर आपने अपनी जरूरत के हिसाब से किसी से पैसे लिए, उस वक्त आपका काम हो गया. अब अगली बार हुआ ये कि आपको फिर से पैसे का काम पड़े, इस परिस्थिति में आपको यही एहसास होगा कि मुझे फिर से किसी से पैसे ले लेने चाहिए. ये सोच का हिस्सा बनने की चीजें हैं. हम अपनी सोच में नियंत्रण नहीं रख पाते, इस वजह से हम किसी भी काम को दोहराते चले जाते है. इसी को आसान भाषा में आदत कहते हैं. अब ऐसे में सवाल ये है कि यहां आदत का जिक्र क्यों हुआ?

दरअसल, आज के परिदृश्य को देखें तो सोशल मीडिया हमारी आदत में शुमार हो गया है. हम सोते, उठते, जागते, खाते, पीते सोशल मीडिया के ही इर्द-गिर्द रहने लगे हैं. हम अगर सोशल मीडिया का यूज नहीं करेंगे तो हमें अच्छा महसूस नहीं होगा. लेकिन क्या आपने कभी इस बात के बारे में सोचा कि अगर फेसबुक, व्हाट्सअप जैसी चीजें बंद हो जाएं तो हमारे जीवन में क्या बदलाव आयेगा. अगर आपने नहीं सोचा तो घबराइए मत, हम आपको इस सवाल का जवाब अभी बता देते हैं! (What if facebook and whatsapp stop)

शुरू में होगी परेशानियां

अगर शुरुआत की बात करें तो आपको सोशल साइटों का बंद होना किसी बंदिश की तरह लगेगा. मानो जैसे किसी ने आप पर ब्रेक लगा दिया हो. आप बार-बार अपना फोन देखेंगे और बार-बार आपके हाथ लगेगी निराशा. इसके बाद शुरू होगा परेशानियों का दौर! आपको चिड़चिड़ापन होने लगेगा. ये बहुत स्वाभाविक है क्योंकि आपसे अगर कोई आपकी प्यारी चीज दूर कर दे तो आप चिड़चिड़े हो जाएंगे. आपको सिर से संबंधित परेशानी भी हो सकती है. मसलन माथे का दर्द, नींद ना आना, थकान होना इत्यादि. ऐसे में अभी से आपको सावधान होने की जरूरत है. जितना हो सके उतना कम से कम इन साइटों का यूज करें. अपने मन को मनाने की कोशिश करें. ये मुश्किल काम है, लेकिन नामुमकिन नहीं!

मिलेंगी खुशियां ही खुशियां!

शुरू में भले ही आपको परेशानी हो लेकिन अगर आपके अंदर से सोशल मीडिया की लत चली गयी तो समझिए आपकी किस्मत खुल गयी. ऐसा इसलिए क्योंकि जब आप ये सब नहीं चलाएंगे तो आपके पास बहुत सारा वक्त होगा. आप अपनी फैमिली के साथ ये टाइम बिता सकते हैं. आप किताब पढ़ सकते हैं, खाना बना सकते हैं! अपनी पसंद की जगह घूम सकते हैं. कुल मिलाकर कहें तो आप इस वक्त में अपनी पसंद का कोई भी काम कर सकते हैं. आप अगर अपने आप को दूसरे कामों में बिजी करेंगे तो आपका जीवन बदलना तय है. साथ ही साथ आपकी सोच में भी परिवर्तन आएगा. आप ज्यादा फ्री महसूस करने लगेंगे. आपको लगेगा कि आपके पास करने के लिए कितना कुछ है. सबसे बुरी बात ये है कि हम आज के टाइम पर ये सब सोचते नहीं. हम अपनी मस्ती में मस्त रहना ज्यादा पसंद करते हैं.

टेलीविजन का प्रेम जगेगा

जब आप सोशल मीडिया साइटों पर नहीं जाएंगे तो आपका टेलीविजन प्रेम भी जग जाएगा। आजकल फेसबुक, व्हाट्सअप की वजह से लोगों ने टीवी देखना लगभग बंद ही कर दिया है. जब सोशल मीडिया ही नहीं रहेगा तो आदमी अपने मनोरंजन के साधन तो खोजेगा ही और इसी क्रम में वो टीवी देखना शुरू कर देगा.

यह भी पढ़ें: फेसबुक के सीईओ आखिर कैसी जिंदगी जीते हैं?

आप अपने ऊपर देंगे ध्यान

सोशल साइटों के बंद होने से आपको एक फायदा और होगा…और वो है आप अपने ऊपर ध्यान देने लगेंगे. जब आपके पास टाइम होगा तो आप आपमे बारे में सोचेंगे. अपने शरीर को देखेंगे. आज के वक्त में लोग ये सब कुछ पूरी तरह से भूल चुके हैं.

क्या आप भी अब सोशल मीडिया से अधिक अटैच ना रहते हुए ऊपर दिए फायदों को आजमाने की सोच रहे हैं? हमें कमेन्ट कर अपनी राय जरूर बताएं!

Yuva Digest

युवाओं के लिए नॉलेज और जीवनशैली से जुड़ा बेहतरीन कंटेंट सहज भाषा हिन्दी में, जो आपको रखता है हमेशा दो कदम आगे. युवा डाइजेस्ट के साथ जुड़े रहें, अपडेटेड रहें!

Leave a Reply